भारतीय सास को आजीवन खुश रखने के सरल उपाय

Views:73550

भारतीय के मन और जीवन में परिवार का महत्व हमेशा सबसे अधिक प्राथमिकता में रहता है और बात अगर ससुराल से नातेदारी की हो तो यह और भी महत्वपूर्ण हो जाता है। भारत में सास का रिश्ता एक ही क्षण में मीठा और तीखा हो जाता है इसके आलावा यह एक ऐसा पारिवारिक नाता जो आपकी मैरिज लाइफ के बीच सेतु का काम करता है इसलिए आज हम कुछ ऐसे गुण शेयर कर रहे है जिनकी मदद से आप अपने सास को प्रभावित कर हमेशा उनके साथ प्यार भरे रिश्ते कायम कर सकती है।



प्यार और सम्मान से उनको नहला दें : प्यार और सम्मान किसी का भी दिल जितने के लिए काफी है इसलिए अपने सास-ससुर को प्यार और सम्मान दिल खोल कर दें और उसके वक्त उनके प्रति स्नेही बर्ताव  रखें जब वह आपको सलाह दे रहे हो या फिर आप अपनी राय उनके सामने रख रही हो। इसके अलावा जिन मुददों पर आपको गुस्सा आता है या फिर आपसे आपकी सास खफा हो सकती है ऐसे समय और मुददों पर शांतिपूर्ण ढंग से उनको और खुद को समझाने की आवश्यकता है।



पसंदीदा खाना अपने हाथों से पकाएं : वो बहुएं भारतीय मदर-इन-लॉ का दिल जल्दी जीत लेती है जो किचन में खाद्य वस्तुओं को सजाने और स्वादिस्ट बनाने की कला अच्छे से जानती है। भारत में वो सास अपनी बहु को अधिक लाड़ प्यार करती है जो अपनी सासु माँ को उनकी पसंद के अनुसार खाना अपने हाथ से पका कर खिलाती है और किचन में उनकी मदद को हमेशा तत्पर रहती है इसलिए अगर आप जॉब करती है तो सुनिश्चित कर ले छुट्टी वाले दिन किचन में सास की मदद के साथ-साथ कुछ अपनी तरफ से पका कर जरुर खिलाएं इसके अतिरिक्त अगर आप किसी सप्ताह समय नही दे पा रही है तो उस सप्ताह के बीच उनसे खाना पकाने का सुझाव उनसे लेकर उनको खुश रखने का प्रयास जरुर करें।



उपहार जरुर दें : उपहार का अर्थ अगर आप अधिक खर्च से लगाती है तो निश्चित ही आपको अपनी सोच बदलनी होगी। उपहार का सिर्फ एक अर्थ होता है वह है कि आपको उस शख्स का ख्याल हमेशा रहता है। जब भी मौका लगे अपनी सास के लिए अच्छी साड़ी लिपस्टिक या ससुर के लिए उनकी पसंद की पुस्तक गीत की सीडी या अन्य कोई भी छोटा मोटा उपहार जो आपकी सास और ससुर को पसंद आयें जरुर देते रहना चाहिए। निरंतर अंतराल बाद उपहार मिलते रहने से उनको परिवार और घर में उपस्थिति का अहसास होता है और आपके रिश्ते सास ससुर के साथ और मजबूत बनते है।



मां-बेटे को समय दीजिए : अगर आप अपने पति को इस बात का ताना देती है कि उनके पास परिवार के लिए तो समय है पर आपके लिए नही है तो ऐसा करना बंद कर दीजिये इसके अतिरिक्त अगर आपके पति देव कई कई दिनों तक अपने माता-पिता से काम या अन्य कारणों से बात नही कर पाते है तो आप खुद पहले करते हुए अपने पति और उनके माता-पिता के बीच मुलाक़ात का प्रबंध कर और खुद को भावनाओं में बंधे परिवार से कुछ पलों के अलग कर लें। अगर आप की तरफ से ऐसी पहली होगी तो निश्चित ही आपको सास ससुर से तारीफों के साथ-साथ खुश रहने का आशीर्वाद भी प्राप्त होगा।



घुमने के प्लान में सास को शामिल करें : अगर आपकी सास रिटायर हो चुकी है या अधिक समय घर पर व्यतीत करते है तो कभी-कभी पति बच्चों के साथ घुमने का प्लान में उनको भी शामिल कर लें इसके आलावा आप अपनी सास को लेकर फिल्म देखने शॉपिंग करने या फिर पुरे परिवार के साथ पिकनिक पर निकल सकती है। बाहर परिवार के साथ घुमने से उनकी मनोदशा भी बेहतर होगी और आपको शादीशुदा ज़िंदगी में सास से मिलने वाला आनंद भी प्राप्त होगा।

और पढ़े

Comment Box

    User Opinion
    Your Name :
    E-mail :
    Comment :

Category

अच्छे और सफल पिता बनने के नियम


आँख से संपर्क


कार्यालय


किशोर


कॉलेज


गर्लफ्रेंड समस्याएं


चुंबन


डेटिंग टिप्स


त्यौहार


दुल्हे और दुल्हन


दोस्त


नवजात बेबी के परवरिश करने के टिप्स


पति और पत्नी


पिता


पुरुष


पुरुषों के टिप्स


प्यार


प्रेम


फोरप्ले


फ्लर्ट


बच्चे


मर्दों के लिए टिप्स


महिला


महिलाओ के लिये टिप्स


रिलेशनशिप


रोमांस


लड़का


लड़कियों के बात करने के टिप्स


लड़कियों के लिये टिप्स


लड़की


लव बाइट


वयस्क


वर्जिनिटी


विवाह


वेलेंटाइन


शादी का दिन


सिड्‍यूस विज्ञान


सुबह सेक्स के लिए टिप्स


सुहागरात


सेक्स


सेल्फ हेल्प टिप्स


हिक्की


होठ


पति और पत्नी रिलेशनशिप


पुरुष


बॉयफ्रेंड और गर्लफ्रेंड


रोमांटिक


शादीशुदा जिंदगी


शादीशुदा जीवन में तनाव


स्त्री / महिला